गीले बालों के साथ सोने के कारण होने वाली 7 बीमारियां. ऐसा करना तुरंत बंद करें!


क्या गीले बालों के साथ सोना गलत है? हम सभी की माँ हमेशा कहती रही हैं कि गीले या नम बालों के साथ बिस्तर पर जाना ठीक नहीं है। हमें सर्दी या निमोनिया हो सकता है। क्या यह सच है? सच यह है कि ऐसा बिलकुल नहीं है। इसका मतलब यह नहीं है कि नहाने के बाद तुरंत सो जाएँ। यह एक गलत निर्णय हो सकता है। तो क्या करें? हम इन्ही बातों का जवाब यहाँ देना चाहते है।

सब से पहले ये समझ लें कि नमी का बालों में लंबे समय तक रहने से सिर में कष्टदयाक खुजली होने लगती है। नमी से बालों की सतह की पोरोसिटी बढ़ती है जिससे बालों का घनापन कम होने लगता है।

इसलिए सलाह दी जाती है कि गीले बालों को ज्यादा समय तक तौलिये या टोपी से ढक कर न रखें।

अन्य नुक्सान जो गीले बालों के साथ सोने से हो सकते हैं –

1) सिरदर्द – सोने पर शरीर का तापमान बढ़ता है। अब अगर आपने गीलें बालों को तौलिये आदि से ढका है तो सिर में नमी के बने रहने के कारण सर का तापमान कम होता है और शरीर गर्म। अतः इस तापमान में अंतर होने के कारण तेज़ सिरदर्द की समस्या हो सकती है।

2) बालों का टूटना – गीले बाल अधिक टूटते हैं। अगर आप अकसर गीले बालों के साथ सोते हैं तो संभव है कि बाल टूटने की संभावना अधिक हो जाए। इसलिए गीले बालों के साथ सोने का विचार अच्छा नहीं है।

3) बालों का चिपचिपा होना – अगर आप गीले बालों के साथ सोते हैं तो सुबह आपके बाल उलझे हुए और चिपचिपे होंगे। जिनके बाल लंबे हैं उन्हें गीलें बालों के साथ नहीं सोना चाहिए , उनको बाल टूटने की और अन्य समस्याएं हो सकती है।

4) इन्फेक्शन – आप का तकिया बैक्टीरिया के लिए एक आदर्श स्थान है क्योंकि यह पसीना , डेड स्किन सेल्स और बॉडी ऑयल्स को सोख लेता है। आपके तौलिये से नमी तकिये में जाती है और वह बैक्टीरिया के विकास के लिए आदर्श स्थान बन जाता है और कई तरह की बीमारियों का कारक बनता है।

5) खुजली – गीले बालों के साथ सोने से सिर की त्वचा में नमी रहती है जो कि एक अलग प्रकार की खुजली का कारण बन सकती है।

6) मसल्स पैन – अचानक तापमान में परिवर्तन के कारण न केवल मासपेशियों में दर्द हो सकता है बल्कि इसके कारण गंभीर ऐंठन और यहाँ तक कि चेहरे का पैरालिसिस भी हो सकता है।

7) डेंड्रफ – नम खोपड़ी सिर में मौजूद सेबेशियस ग्लांड्स के कार्य को प्रभावित करती है। इसके कारण कम या ज्यादा तेल उत्पन्न हो सकता है। इसके कारण सिर का पी.एच. संतुलन बिगड़ जाता है। रिजल्ट स्वरुप या तो रूसी या अत्यधिक तेलयुक्त खोपड़ी की समस्या हो सकती है।

इस प्रकार की समस्यायओं से बचने के लिए आवश्यक है कि आप गीले बालों के साथ न सोएं। इसलिए पहले तौलिये से सिर को सुखाये और अपना तकिया और बिस्तर सूखा रखें। अतः जब भी आपको सिर धोना हो तो दिन के समय ही धोएं। यह आप के स्वास्थ्य के लिए सदा अच्छा रहेगा।



Ask your health & beauty questions anonymously and answer others